- Advertisement -

अमेठी-एक ऐसा गांव जहाँ के गांव की सड़क का पर अभी भी बरिस का भरा है पानी,,

उसी गांव के लोगो ने लोकसभा चुनाव का ग्रामीणों ने किया बहिष्कार का ऐलान

0 169

अमेठी-एक ऐसा गांव जहाँ के गांव की सड़क का पर अभी भी बरिस का भरा है पानी,,ग्रामीणों को आने जाने में हो रही हैं परेशानी, कई बार जनप्रतिनिधियों से हुई शिकायत, नतीजा बना ढाक के तीन पात वाली कहावत हुई चरितार्थ,इसी मामले को लेकर लोकसभा चुनाव का ग्रामीणों ने किया बहिष्कार का ऐलान

अमेठी से चंदन दुबे की रिपोर्ट

- Advertisement -

- Advertisement -

अमेठी।अमेठी में जहा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है।वही हर पार्टियों के नेता चुनावी जुमले जनता को लुभाने के लिए मंचों से ऐलान कर रहे हैं तो वहीं अमेठी जिले के धरौली गाँव के लोगो ने भी नेता के चुनावी जुमले और वादों को दरकिनार करते हुए 2019 के लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया है।

ग्रामीण इसके पीछे की वजह वहां की बेकार व जर्जर सड़के बता रहे हैं।

आपको बतातें चलें कि ये मामला अमेठी संसदीय क्षेत्र के जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक व राज्य सरकार में मंत्री सुरेश पासी के क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव धरौली का है जहाँ गांव वासी पिछले कई सालों से विकास की बाट जोह रहे थे लेकिन लोकसभा चुनाव आते ही नेताओं के झूठे वादों से उनके सब्र का बांध टूट गया और सभी ग्रामवासी इस चुनाव का सीधा बहिष्कार करने पर अड़ गए हैं जिससे नेताओ व प्रशासन को पसीने आने शुरू हो गए है।

धरौली गांव के लोगों का कहना है कि वो तब तक किसी भी चुनाव में वोट नहीं करेंगे जब तक उनके गांव की जर्जर सड़के नहीं बन जाती हैं।गांव वालों ने कहा कि बरसात के मौसम में स्थिति और भी खराब हो जाती है इसीलिये हम लोगों ने लोकसभा चुनाव के बहिष्कार’ का बैनर गांव की सड़क के बाहर लगा दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.