- Advertisement -

अमेठी-स्मृति ईरानी ने किया लोकसभा अमेठी में सघन प्रचार अभियान

0 255

अमेठी।स्मृति ईरानी ने किया लोकसभा अमेठी में सघन प्रचार अभियान

चंदन दुबे की रिपोर्ट

- Advertisement -

आज स्मृति ईरानी ने लोकसभा अमेठी में भाजपा की प्रत्याशी स्मृति ईरानी लगातार अपने अमेठी विजय अभियान में जुटी हुई है पूरे अमेठी लोकसभा क्षेत्र के प्रत्येक न्याय पंचायत में पहुंचकर लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश जन जन तक पहुंचा रही है और अमेठी से आगामी 6 मई को होने वाले चुनाव में बीजेपी को अधिक से अधिक मतों से जिताने की अपील कर रही हैं।

- Advertisement -

अमेठी विधानसभा के कुड़वा गांव में स्मृति ईरानी के पहुंचने से पहले वहां पर उपस्थित महिलाओं ने अपने हाथों में आशा बाजपेई से कमल की मेहंदी लगवाई मेहंदी लगाने वाली आशा बाजपेई ने बताया कि यहां पर सभी एकत्रित हुई।

महिलाओं के हाथों में कमल के फूल की मेहंदी बनाकर यह संदेश देना चाहते हैं कि आने वाले चुनाव में जो हम लोगों की महिला प्रत्याशी है उसके लिए कमल के फूल की बटन दबाकर उसको विजई बनाएं हम लोगों का एक अभियान चल रहा है कमल मेहंदी अभियान जिसमे हम आगामी होने वाले चुनाव के पहले पहले पूरे लोक सभा क्षेत्र में सभी महिलाओं के हाथ में कमल की मेहंदी से कमल का फूल बना देंगे।

आज स्मृति ईरानी ने अपने विजय अमेठी अभियान के तहत अमेठी विधानसभा के विभिन्न पंचायतों को चुना है जिसमें वह मुंशीगंज थाना क्षेत्र के कुड़वा गांव में पहुंची जहां पर उन्होंने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि अमेठी का सांसद लापता है यदि उसको इस बार चुनाव में नामांकन ना करना होता तो वह दिखाई भी ना पड़ता नामांकन करने के बाद वह यहां से चला गया है वह ऐसा सांसद है जो आप सभी के दुख तकलीफों तथा समस्याओं से अनजान है इसलिए आगामी छह मई को आप लोग कमल का बटन दबाइए जिससे आप लोगों को ₹13 किलो चीनी और रहने के लिए पक्का घर मिल सके यह आप सब लोगों के लिए मोदी जी का संदेश है इसीलिए आप सब की दीदी आप सब के बीच में आई हुई है आप सब के दुख और सुख में हमेशा सहयोग करती रही है और आगे भी रहेगी जिसका उदाहरण आप स्वयं देख सकते हैं कि पिछले 50 सालों से परेशान थे पिपरी गांव के लोग जहां पर मैंने हारने के बाद भी बांध बनवा दिया और वहां पर लोग प्रसन्न है इसलिए मैं जो कहूंगी वह आगे करूंगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.