- Advertisement -

बाराबंकी-रेलवे उड़ा रहा अचार संहिता की धज्जियाँ , यात्रियों को बाँट रहा प्रधानमंत्री मोदी की फोटो लगा टिकट , रेलवे ने कहा गलती से लग गया बन्डल

0 245

रेलवे उड़ा रहा अचार संहिता की धज्जियाँ , यात्रियों को बाँट रहा प्रधानमंत्री मोदी की फोटो लगा टिकट , रेलवे ने कहा गलती से लग गया बन्डल

चुनाव की घोषणा होने के बाद पूरे देश में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी है जिसके लिए चुनाव आयोग की सख्ती के असर देखा भी जा सकता है मगर बाराबंकी में रेलवे प्रशासन खुद ही सरेआम आदर्श चुनाव आचार संहिता की धज्जियाँ उड़ा रहा है । यहाँ के काउंटर से जो टिकट दिया जा रहा है उसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की फोटो लगी हुयी है । जब एक यात्री ने प्रधानमंत्री की फोटो
लगी होने की टिकट काउन्टर का ध्यान आकृष्ट कराना चाहा तो उसे वहाँ से भगा दिया गया । इस घटना ने चुनाव आयोग की कार्यशैली और उसकी सख्ती पर भी सवाल खड़ा कर दिया है ।

- Advertisement -

बाराबंकी के रेलवे स्टेशन पर आज एक ऐसा मामला प्रकाश में आया जिस पर सामान्य व्यक्ति ध्यान ही नही देता मगर आज एक जागरूक युवक ने रेलवे प्रशासन की इस लापरवाही को बड़ी आसानी से पकड़ लिया । दरअसल रेलवे काउन्टर से जो टिकट दिए जा रहे थे उसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की फोटो लगी हुई है और उनकी एक महत्वपूर्ण योजना प्रधानमंत्री आवास योजना का विज्ञापन छपा था । प्रधानमंत्री की फोटो देख कर इस युवक ने जब जानकारी करनी चाही तो काउन्टर से उसे भगा दिया गया । रेलवे अधिकारियों से निराश होकर इस युवक ने अपनी बात मीडिया के समक्ष रखी ।

- Advertisement -

मोहम्मद शब्बर रिजवी नामक युवक ने बाराबंकी से बनारस तक कि यात्रा का टिकट बाराबंकी जंक्शन के टिकट काउण्टर से लिया था । शब्बर रिजवी ने बताया कि उसे जो टिकट मिला उस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फोटो छपी थी । फोटो देखकर उसे ख्याल आया कि चुनाव आचार संहिता लागू है और ऐसे टिकट का वितरण किया जाना आचार संहिता का खुला उल्लंघन है । इस बात की जानकारी लेने जब वह टिकट काउन्टर पर वापस गया तो उसे वहाँ से भगा दिया गया । मजबूर होकर वह अपनी बात मीडिया के समक्ष रख रहा है ।

रेलवे के अधिकारी सुरेश कुमार से जब इस बारे में पूँछा गया तो उन्होंने बताया कि यह गलती से हो गया है । टिकट का यह बन्डल प्रिन्टिंग मशीन में गलती से लग गया और उसी कारण ऐसे टिकट निकलने लगे । रेलवे की आचार संहिता उल्लंघन की कोई मंशा नही है ।

बाईट – सुरेश कुमार ( रेलवे अधिकारी )

बाईट – मोहम्मद शब्बर रिजवी ( यात्री
रिपोर्टर सैफ मुख्तार

Leave A Reply

Your email address will not be published.