- Advertisement -

अमेठी में कांग्रेसियों का किया जा रहा उत्पीड़न-प्रियंका गांधी

0 371

अमेठी।अमेठी में कांग्रेसियों का किया जा रहा उत्पीड़न-प्रियंका गांधी

चंदन दुबे की रिपोर्ट

- Advertisement -

विभिन्न समाचार पत्रों में कांग्रेसियों के उत्पीड़न की खबर सुनकर कांग्रेस की फायर ब्रांड नेता प्रियंका गांधी अपने कार्यकर्ताओं का हाल चाल जानने घटनास्थल पहुंची।तथा कार्यकर्ताओं को भरोसा दिलाया संकट की घड़ी में हम आपके साथ हैं।

- Advertisement -

पीपरपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत त्रिशुंडी गांव में मतदान को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के ऊपर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने हमला बोल दिया था।जिसमें 4 लोग घायल हो गए घायल पक्ष ने सूचना पीपरपुर थाना में दिया लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई।समाचार पत्रों के माध्यम से जैसे ही कांग्रेस के स्टार प्रचारक व फायर ब्रांड नेता प्रियंका गांधी के पास कांग्रेसी नेताओं के ऊपर हुए हमले की सूचना मिली तो उन्होंने पीड़ितों का हाल जानने के लिए गांव का दौरा किया गांव वासियों ने बताया कि बीजेपी नेताओं ने हमें वोट नहीं डालने दिया प्रशासन ने हमारे घरों के सामान तोड़ दिए हमारे पशुओं को मारा तथा छप्पर को गिरा दिया।

घटना का संज्ञान लेते हुए प्रियंका गांधी ने बताया की यह समस्या अब आपकी नहीं है यह मेरी व्यक्तिगत समस्या है आप लोगों के साथ अन्याय नहीं होगा यह हमारा आपसे वादा है इस पूरे प्रकरण से थाना अध्यक्ष पीपरपुर ने अनभिज्ञता जताई थी जिस पर प्रियंका गांधी ने कहा हमें सब पता है आप लोग क्या करते हैं पीड़ित पक्ष के घर वालों तथा ग्राम वासियों ने पुलिस द्वारा उत्पीड़ित की हुई सारी घटनाओं को क्रमशः बताया तथा और वोट से वंचित मतदाताओं ने मतदाता पर्ची प्रियंका गांधी को सौंपी।पीड़ित परिवार के घर प्रियंका गांधी के पहुंचने पर ग्रामीणों ने राहुल गांधी जिंदाबाद प्रियंका गांधी जिंदाबाद तथा पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे भी लगाए।पुलिस द्वारा एक तरफ की गई कार्रवाई में चौकी इंचार्ज रामगंज उपेंद्र प्रताप तथा चौकी सिपाही अमरजीत प्रजापति तथा दो महिला सिपाहियों द्वारा की गई आश्चर्यजनक बात यह है कि पुलिस ने बंटी सिंह की उपस्थिति में गांव वालों के ऊपर उत्पीड़न की कार्यवाही की और दिखाया की प्रशासन आपके साथ खुलेआम है आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण हथियार कहां से आए यह एक यक्ष प्रश्न है।इस पूरे प्रकरण में पुलिस की भूमिका पूरी तरह से संदिग्ध है। फिलहाल प्रियंका गांधी के आगमन से पुलिस विभाग में अफरा-तफरी का माहौल रहा उन्होंने प्रियंका गांधी को भरोसा दिलाया शाम तक एफ आई आर करके उसकी प्रति मान सिंह को सौंप दी जाएगी।

घटना पीपरपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्थित त्रिशुंडी बूथ नंबर 390 की है मतदान के समय कांग्रेस बीजेपी व अन्य दलों के एजेंट बूथ पर मौजूद थे तभी अवैध वोटिंग को लेकर कांग्रेस पक्ष के एजेंटों द्वारा विरोध दर्ज किया गया जिसे बीजेपी के एजेंटों को नागवार गुजरा।मामूली कहासुनी से बात शुरू होकर हाथापाई पर आ गई बीजेपी के नेताओं द्वारा बूथ के बाहर जमकर तांडव मचाया गया जिसमें कांग्रेस के राममूर्ति गुप्ता पुत्र राम नारायण गुप्ता ,मानसिंह पुत्र तारकेश्वर, सुदामा पत्नी तारकेश्वर, राम निरंजन यादव पुत्र बजरंग यादव को गंभीर चोटे आई।घायल पक्ष ने इसकी सूचना स्थानी चौकी रामगंज मे दिया लेकिन एफ आई आर दर्ज नहीं की गई ।अंततः दूसरे दिन मौका पाकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को मारा पीटा बीजेपी के कार्यकर्ता अजीत सिंह पुत्र स्वर्गीय मारुति निवासी त्रिशुंडी का आरोप है कि वह 7 तारीख को सायं 5:00 बजे रामगंज बाजार सामान खरीदने गए थे जहां पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने उनसे ₹40000 तथा सोने की चेन छीन लिए और विरोध करने पर लाठी से डंडे मारा पीटा तथा हथियारों का भय दिखा कार जान से मारने की धमकी दी जिस पर पुलिस ने राहुल गुप्ता पुत्र राम मूरत गुप्ता धर्मराज यादव पुत्र बजरंग यादव मान सिंह यादव पुत्र तारकेश्वर विनोद यादव पुत्र जगदीश यादव निवासी आलिया का पुरवा मजरे त्रिशुंडी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर के कार्यवाही शुरू कर दी। यदि स्थानी पुलिस ने उसी समय घटना का संज्ञान ले लिया होता तो ऐसी नौबत नहीं आती और जब बीजेपी पर हमला हुआ तो उसने तुरंत एफ आई आर दर्ज करके कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का जीना मुहाल कर दिया उनके घरों में जमकर तोड़फोड़ की गई जिससे उनकी जान माल की काफी क्षति हुई।

घटना की सूचना मानसिंह ने थानाध्यक्ष पीपरपुर और पुलिस महानिदेशक लखनऊ एडीजी लॉ डीआईजी फैजाबाद वह राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग सहित को आइजीआरएस पोर्टल मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को भेजी जी मान सिंह का आरोप है कि गांव के बंटी सिंह उर्फ़ रजनीश सिंह ,रिंकू सिंह, अजीत सिंह, राहुल सिंह ,शंकर सिंह ,प्रमोद सिंह, विनोद सिंह अपने हाथ में लाठी डंडा व हथियार लेकर आए थे जो स्मृति ईरानी के पक्ष में जबरदस्ती मतदान कराना चाहते थे जिसका हमारे घर वालों ने विरोध किया तो उपरोक्त लोगों ने मानसिंह,राम मूरत,सुदामा व निरंजन को मारकर घायल कर दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.