- Advertisement -

गोंडा-गांवो में चल रहा है गोरखधंधा, सफ़ाई कर्मी नही कर रहे है काम,

0 597

गांवो में चल रहा है गोरखधंधा, सफ़ाई कर्मी नही कर रहे है काम,दिहाड़ी मजदूर से करा रहे हैं गांव की नालियाँ साफ

गोंडा जनपद में कई स्थानों पर सफाई कर्मचारी अपना काम स्वयं ना करके अपने स्थान पर दूसरे लोगों को ₹200 दिहाड़ी देकर गांव की नालियों को साफ करा रहे हैं और विभागीय अधिकारी मौन धारण किए हुए बैठे हैं बता दें कि गांव में तैनात सफाई कर्मचारी खुद सफाई करने नहीं जाते हैं और दूरभाष से बता देते हैं कि इस गांव की सफाई कर दो दो ₹100 दिहाड़ी दे दिया जाएगा मामला इटियाथोक ब्लॉक के ग्राम पंचायत बिशुनपुर तिवारी का है

- Advertisement -

यहां पर तैनात सफाई कर्मी अवधेश कुमार सोनकर हैं जो कि महीना बीत जाता है पर गांव में आना मुनासिब नहीं समझते हैं बता दें कि यहां की नालियों में कूड़ा पटा होने के कारण नालियों मैं रुका हुआ गंदा पानी खड़जे पर बह रहा है जिससे आने जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है यहां पर लगे सरकारी हैंड पंप कूड़े के ढेर में दिखाई दे रहा है और और इसका गंदा पानी रुका होने के कारण डेंगू मलेरिया जैसे बीमारियों को दावत दे रहा है वह खड़ंजे के दोनों बगल घास भूसा वह गंदगी व्याप्त है जो कि यहां पर मजदूरों से कभी-कभार ₹200 दिहाड़ी देकर मजदूरों से काम करवा देते हैं यहां के सफाई कर्मी अवधेश कुमार सोनकर का कुछ नया रवैया है जोकि ब्लॉक मुख्यालय से लेकर ग्राम प्रधानों के घर का गणेश परिक्रमा करते हुए नजर आ रहे हैं क्योंकि इनके चेक का भुगतान वही लोग पास करेंगे और बात कर रहे हैं यहां के प्राइमरी पाठशाला का इसमें बना हुआ शौचालय का ताला कभी-कभार खुलता है और यहां नौनिहालों को शौचालय के लिए काफी मुसीबतें झेलना पड़ता है क्योंकि प्राइमरी पाठशाला में बना शौचालय में काफी कूड़ा पड़ा हुआ है इसका खामियाजा प्राइमरी पाठशाला में पढ़ रहे नौनिहाल बच्चे भुगत रहे हैं यही कारनामा है हमारे ग्राम सभा स्तर से जुड़े कुछ भ्रष्ट सफाई कर्मचारियों का इस मामले को लेते हुए वीडियो विकास मिश्रा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि एडीओ पंचायत को भेजकर इस गांव की जांच अवश्य करवाई जाएगी

कहां गए सफाई कर्मी कोई पता नहीं

- Advertisement -

गोंडा जनपद के विकासखंड इटियाथोक अंतर्गत विशुनपुर तिवारी का है ये मामला 


क्या कहते हैं यहां के पीड़ित ग्रामीण

यहां के निवासी योगेश कुमार शुक्ला का कहना है कि यहां पर सफाई कर्मी कभी नहीं आते इस गांव में जगह-जगह कूड़े का अंबार बना हुआ है जिससे डेंगू मलेरिया जैसे गंभीर बीमारी हो सकते हैं

यहां के निवासी शोभाराम शुक्ला का कहना है कि हमारे यहां सफाई कर्मी ब्लॉक मुख्यालय वह ग्राम प्रधान के घर का गणेश परिक्रमा करके चले जाते हैं और कभी-कभार ₹200 दिहाड़ी देकर मजदूरों से काम करवा देते हैं

यहां के निवासी सतीश शुक्ला का कहना है कि यहां के सफाई कर्मी हमेशा गायब रहते हैं हमारे घर के सामने नालियों का गंदा पानी कूड़ा पटा होने के कारण खंड़जे पर बह रहा है जिससे आने-जाने में बड़ी समस्या होती है वह डेंगू मलेरिया जैसे गंभीर बीमारी का डर लगा रहता है

रिपोर्ट- रंजीत तिवारी

Leave A Reply

Your email address will not be published.