- Advertisement -

यूपी में भाजपा ने ब्राह्मण, यादव और आदिवासी पर जातीय गणित साधने की रणनीति पर काम करना किया शुरू।

0 119

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान के सीएम भजनलाल शर्मा, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव और छत्तीसगढ़ के सीएम विष्णुदेव साय के जरिये अब यूपी में जातीय गणित साधने की रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है।इसके लिए भाजपा पार्टी ने ब्राह्मण, यादव और जनजातीय नेताओं को अपने-अपने समाज के बीच यह संदेश पहुंचाने को कहा है कि राजस्थान में ब्राह्मण, एमपी में यादव (यानी पिछड़े) और छत्तीसगढ़ में एक सामान्य आदिवासी परिवार के कार्यकर्ता को सीएम बनाकर भाजपा ने उनके समाज का सम्मान बढ़ाया है।यह मैसेज जन जन तक पहुचाने के लिए कमर कस ली है।

- Advertisement -


भाजपा ने ब्राह्मण, यादव जनजातीय सीएम के सहारे यूपी में राजनीति की गणित साधने की शुरू की तैयारी,पेश है रिपोर्ट।

- Advertisement -

अब देखिए भाजपा कहाँ कहाँ साध रही हैं। यूपी में लंबे अर्से से कोई ब्राह्मण मुख्यमंत्री नहीं हुआ है। यादव समाज पर अपना हक समझने वाली सपा जब भी सत्ता में आई है तो सरकार की कमान परिवार के नेतृत्व में ही रही है। ऐसे में यूपी में ब्राह्मण डिप्टी सीएम के बाद राजस्थान में सीएम बनाकर पार्टी इस समाज को यह संदेश देने में जुट गई है कि उनका सम्मान भाजपा में ही है और कहीं भी इतना सम्मान नही मिलेगा।

भाजपा समाज मे मैसेज देना शुरू कर दिया कि मध्य प्रदेश जैसे बड़े राज्य में यादव समाज से सीएम बनाकर यूपी में यादव समाज को यह बताना शुरू कर दिया गया है कि भाजपा में कोई भी किसी भी पद पर पहुंच सकता है, चाहे वह यादव ही क्यों न हो। यह भी बताया जा रहा है कि यादव समाज सपा में नेतृत्व का पद तो कभी नहीं पा सकता। जब भी ऐसा अवसर आएगा, अखिलेश या उनका परिवार ही मौका पाएगा। यूपी में आदिवासी मतदाताओं की संख्या तो ज्यादा नहीं है, लेकिन पूर्वांचल की कुछ सीटों को यह समुदाय प्रभावित करता है। छत्तीसगढ़ में आदिवासी समाज से सीएम बनाकर पार्टी ने दलितों-आदिवासियों को यह संदेश देने का प्रयास शुरू कर दिया है कि उनके हित भाजपा में ही सुरक्षित हैं।

भाजपा पार्टी लोकसभा चुनाव में ब्राह्मण, यादव व आदिवासी समाज के बीच सियासी प्रयोग का फायदा उठाना चाहती है। पार्टी ने तीनों जातियों से जुड़े नेताओं और जनप्रतिनिधियों को इसके लिए सक्रिय कर दिया है। यादव समाज से जुड़े नेता और पदाधिकारी जहां मोहन यादव को सीएम बनाने के लिए पीएम मोदी का आभार जताते हुए पोस्टर, बैनर और होर्डिंग्स के जरिये इसका प्रचार कर रहे हैं। वहीं ब्राह्मण समाज के नेता भी अपने समाज के बीच भजनलाल शर्मा को सीएम बनाने के लिए पार्टी नेतृत्व का आभार जता रहे हैं। जनजाति प्रकोष्ठ के कार्यकर्ता भी विष्णुदेव साय के जरिए जनजाति समुदाय को साधने का प्रयास कर रहे हैं। नेता और जनप्रतिनिधि समाज को बता रहे हैं कि भाजपा ने ही उनके समाज को उचित नेतृत्व दिया है। अब इन समाजों के सामाजिक संगठनों के जरिये भी इसके लिए मीएम मोदी और भाजपा नेतृत्व का आभार प्रकट कराने की तैयारी है। और सबसे बड़ी बात कि यादव महासभा ने तो मोहन यादव को सीएम बनाने के लिए भाजपा का आभार भी जता चुकी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.