- Advertisement -

सुलतानपुर-सड़क पर पहुंचा दियरा राजपरिवार का झगड़ा।

0 65

सम्मान बचाने को थाने पर नहीं दिया दोनों पक्षों ने प्रार्थना पत्र, कोर्ट में न्याय लेने पर सहमत

- Advertisement -

मोतिगरपुर(सुलतानपुर)। दियरा राज परिवार में कब्जेदारी का विवाद शनिवार को मोतिगरपुर थाने पहुंच गया। राज परिवार से जुड़े प्रतीक शाही और वैभव शाही ने एक दूसरे पर मारपीट का आरोप लगाया। सूचना पर एसडीएम (न्यायिक) और सीओ जयसिंहपुर और सीओ भी मौके पर पहुंचे। मामले की जानकारी लेते हुए शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए दोनों पक्ष को पाबंद किया।

शनिवार दोपहर करीब 11 बजे दियरा राजघराने के प्रतीक शाही पुत्र शिवेंद्र शाही स्थानीय थाने पर पहुंचे। उन्होंने परिवार के ही वैभव प्रताप शाही पर अपनी मां इंदू शाही को लेकर दियरा स्थित राजमहल पहुंचे और एक कमरे का ताला तोड़कर अंदर घुस गए। वहीं दूसरी तरफ कुछ ही देर में थाने पहुंचे वैभव प्रताप शाही ने भी पुलिस को बताया कि वह अपनी मां के साथ कई वर्षों से दियरा में रह रहे हैं।
शनिवार दोपहर में प्रतीक शाही कुछ लोग के साथ आये और मेरे ऊपर फायरिंग की। मैं मौके से भाग निकला। इस बीच मेरे वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया। हाई प्रोफाइल मामले की जानकारी और गोली चलने की वायरल खबर को संज्ञान लेते ही एसडीएम (न्यायिक) जयसिंहपुर वंदना पांडेय और सीओ जयसिंहपुर प्रशांत सिंह मोतिगरपुर थाने पहुंचे।

- Advertisement -

दोनों पक्षों का आरोप सुनने के बाद दोनों अधिकारियों ने मौके का निरीक्षण किया, जिसमें वैभव प्रताप शाही का वाहन आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त मिला। गोली चलने की घटना को अधिकारियों ने फर्जी बताया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने में बैठाया गया। इस बाबत एसडीएम (न्यायिक) जयसिंहपुर वंदना पांडेय ने बताया कि शांति व्यवस्था को देखते ही दोनों पक्षों को पाबंद किया गया है। वैभव प्रताप शाही की मां इंदू शाही को सामान सहित उनके वहां से वापस सुलतानपुर आवास पर भेजा गया। सुरक्षा की दृष्टि से प्रतीक प्रताप शाही और वैभव प्रताप शाही को थाने पर बैठाया गया है।

मजिस्ट्रेट बोलीं, न्यायालय में होगा फैसला
मजिस्ट्रेट वंदना पांडेय कहती है कि दोनों पक्षों ने कोई लिखित शिकायत थाने पर नहीं दी है। आपसी समझौते पर दोनों पक्ष राजी हो गए हैं । न्यायालय में न्याय पाने की प्रक्रिया को दोनों पक्ष अपनाएंगे । यह दोनों पक्षों के बीच सहमति बनी है।

सुलतानपुर-जनवरी से मार्च तक लाभार्थियों को मिलेंगे दो-दो सिलेंडर, डीएसओ ने दी जानकारी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.