- Advertisement -

अमवा मुर्तजापुर गांव में चार मासूमों सहित एक युवक की मौतों से ग्रामीणों में दहशत

उपजिलाधिकारी मोहनलालगंज व मोहनलालगंज विधायक अमरीष पुष्कर व लखनऊ सीएमओ पूरी टीम के साथ पहुंचे।

0 239

ब्यूरो रिपोर्ट

- Advertisement -

रिपोर्ट -कुलदीप यादव 
लखनऊ नगराम थाना क्षेत्र के अमवा मुर्तजापुर गांव में  दस दिनों के भीतर इन नन्हे -मुन्हे एक के बाद एक पाँच बच्चों की अचानक  तबियत बिगड़ी और संक्रामक बीमारी के चलते लगातार मौत हो रही हैं, जिसको लेकर गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है, ग्रामीणों में इस संक्रामक बीमारी के विषय में तरह तरह की चर्चाएं भी होने लगी है । वहीं सूचना पाकर बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुँची थी जहां ग्रामीणों से पूँछतांछ कर गांव का जायजा भी लिया था, दर्जन भर से अधिक बच्चो व बड़ो के ब्लड सैंपल लिए थे, और सभी का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाइयां भी वितरित की गई थी, जिसके बाद मृतक एक बच्चे के शव को जांच हेतु पीएम के लिए भेजा था।

- Advertisement -

मौजूद टीम के डॉक्टरों ने बताया की  पीएम के बाद कि मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा। पीएम रिपोर्ट आने के बाद भी मौतों का सिलसिला कम नहीं हुआ है, अमवा मुर्तजापुर गांव के रहने वाले मजदूर का बेटा   दीपांशु (4)जो मंगलवार की शाम करीब 7 बजे पड़ोस के रहने वाले उदयशंकर के बरामदे में अपनी दो बड़ी बहन पूनम व प्रियंका के साथ खेल रहा था साथ में उदयशंकर की बेटी सुनैना भारती भी खेल रही थी इस दौरान सभी लोग मिलकर दालमोट भी खा रहे थे। कुछ देर बाद दीपांशु का अचानक शरीर गर्म होने लगा, और नाक मुह से झाग निकलने लगा और तबियत बिगड़ती चली गयी वह जमीन पर गिर पड़ा। यह सुन परिजन दौड़ पड़े, और उसकी हालत देख कर दंग रह गए। लगातार ऐसी बड़ी घटना को देखकर ग्रामीणों के अन्दर दहशत बनी हुई है, वहीं ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी है, कोई कह रहा सांप काटने जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं , तो कोई कह रहा कि कोई वायरल जैसी बीमारी है। वहीं परिजन मासूमों को ग्रामीणों के साथ लेकर सांप झाड़ने वाले के पास भी जाते हैं , लेकिन वहाँ से भी मायूस होकर वापस आते हैं, और परिजन मासूम को हॉस्पिटल के लिए लेकर जाते हैं , गांव के ही उदयशंकर ने बताया कि बीते पांच जून की शाम को उनके इकलौते बेटे सुजान बाबू 13 की भी इसी तरह से अचानक तबियत बिगड़ी और नाक मुंह से झाग व उलटी पलटी के साथ लैट्रीन होने लगी थी, जिसको उपचार के लिए सीएचसी मोहनलालगंज ले गए थे जहां से उसे ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया था, जिसके बाद देर रात उसकी भी मौत हो गयी थी। इसी तरह उनकी बेटी सुनैना भारती 15 की भी बीते 3 जून की शाम इसी तरह अचानक तबियत बिगड़ी थी। लगातार पांच में भी वैसे ही एक ही जैसे लक्षण दिखाई  दिए। आप को बता दें कि इन दस दिनों में अचानक लगातार अजीबो – गरीब तरीके से हुई 5 बच्चों की मौत के बाद गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है। वहीं सूचना पाकर बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने चिकित्साा अधिकारी डा. प्रिया, डा. प्रशान्त, डा.रोमी, डा. अजीत , एलटी डा. विशाल,  व नगराम सीएचसी अधीक्षक शिव शरन हेरम्ब टीम के साथ गांव पहुंचकर ग्रामीणों से पूँछतांछ कर गांव का जायजा लिया,बच्चों के साथ कई ग्रामीणों का ब्लड सैंपल लेकर स्वास्थ्य जांच कर, दवाइयां भी वितरित किया था। लगातार हो रही मौतों की खबर लगते ही उपजिलाधिकारी संतोष कुमार सिंह ने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की ,लगातार हो रही मौतों से स्वास्थ्य विभाग की टीम से अच्छे से जांचकर इलाज करने की बात कही।वहीं गांव मुर्तजापुर में लगातार हो रही बच्चों की मौतों से ग्रामीणों में दहशत बना हुआ है। वहीं अधीक्षक मोहनलालगंज भी मौके पर मयटीम के साथ पहुंचे, ऐम्बुलेंस के साथ टीम को लगाकर लगातार जांच के लिए लगा दिए है। स्वास्थ्य विभाग की जांच लगातार जारी है। मोहनलालगंज विधायक अमरीष पुष्कर मृतक के परिजनों से मुलाकात कर कुछ आथिर्क मदद की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.