- Advertisement -

अमेठी- जिलाधिकारी और जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रभारी और उपप्रभारी को सौपी गई जिम्मेदारी को निभाने की सलाह दी

0 330

अमेठी।अमेठी जिलाधिकारी और जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रभारी और उपप्रभारी को सौपी गई जिम्मेदारी को निभाने की सलाह दी

अमेठी से चंदन दुबे की रिपोर्ट

- Advertisement -

- Advertisement -

अमेठी।अमेठी 19 मार्च 2019 लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 को स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराये जाने के उद्देश्य से कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान निर्वाचन की विभिन्न व्यवस्थाओं के लिए नियुक्त किये गये प्रभारी एवं सहायक प्रभारी अधिकारियों को जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 राम मनोहर मिश्र ने निर्देश दिया है कि निर्वाचन सम्बन्धी कार्यो की तत्कालिकता, अपरिहार्यता एवं महत्ता को दृष्टिगत रखते हुए सौंपी गयी जिम्मेदारियों का निर्वहन पूरी संजीदगी के साथ करें। उन्होंने सभी अधिकारियों का आहवान्ह किया कि अपनी जिम्मेदारियों को बेहतर से बेहतर ढंग से धरातल पर क्रियान्वित करायें ताकि भारत निर्वाचन आयोग की मंशानुरूप जनपद फ्री एण्ड फेयर ढंग से लोकसभा की निर्वाचन प्रक्रिया को पूर्ण कराया जा सके।जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को इस बात की सख्त ताकीद की कि आदर्श आचार संहिता का पूरी कड़ाई के साथ अनुपालन करायें।उन्होंने सभी प्रभारी व सहायक प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिया कि माॅडल कोड आॅफ कंडक्ट के सम्बन्ध में आयोग द्वारा जारी किये गये निर्देशों का भली प्रकार से अध्ययन कर लें ताकि किसी भी अधिकारी को कोई कठिनाई न हो।जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी टीमों का एक दूसरे से समन्वय होना चाहिए,क्योंकि संवादहीनता की स्थिति पैदा होने पर कार्यो को सम्पादित करने में असुविधा हो सकती है।उन्होंने अधिकारियों से कहा कि डिलीवर्ड करने का समय है इसलिए सभी लोग निर्वाचन जैसे कार्य को एक चुनौती की भांति स्वीकार करते हुए अपने अनुभव का भी पूरा उपयोग करें।

कार्मिक व्यवस्था की समीक्षा के दौरान मुख्य विकास अधिकारी प्रभुनाथ ने बताया कि पोलिंग पार्टियों की नियुक्ति एवं उनके प्रशिक्षण इत्यादि की व्यवस्था कर ली गयी है।उन्होंने बताया कि मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण के लिए मनीषी महिला महाविद्यालय को चिन्हित किया गया है।मास्टर्स ट्रेनर्स का प्रशिक्षण कलेक्ट्रेट सभागार में आहूत किया जायेगा।जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि मतदान कार्य के लिए नामित किये गये सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के प्रशिक्षण के लिए फुलप्रूफ व्यवस्था की जाये।प्रशिक्षण के लिए थ्योरेटिकल तथा प्रेक्टिकल पक्षों पर विशेष बल दिया जाये ताकि मतदान कार्मिंक विशेषकर पोलिंग पार्टीयाॅ अपने उत्तरदायित्वों को भली प्रकार से निभा सकें।जिलाधिकारी ने प्रभारी अधिकारी को यह भी निर्देश दिया कि अपनी देखरेख में सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करायें।उप जिला निर्वाचन अधिकारी को निर्देश दिया गया कि रेण्डमाइज़ेशन कार्य को आयोग द्वारा निर्धारित प्रोटाकाल के अनुसार पूर्ण कराये जाने के कार्य की स्वयं अपने स्तर पर समीक्षा कर लें।जिलाधिकारी ने व्यय अनुवीक्षण कार्य के लिए गठित सभी टीमों के साथ अलग से बैठक आहूत किये जाने का भी निर्देश दिया।यातायात व्यवस्था की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने प्रभारी अधिकारी को निर्देश दिया कि तहसीलों का सहयोग प्राप्त कर रूटचार्ट को अन्तिम रूप देकर उसकी पुनः समीक्षा भी कर लें।प्रेक्षक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को समय रहते निरीक्षण भवनों का भ्रमण कर उचित व्यवस्था कराये जाने का निर्देश दिया।मतदान दिवस पर दिव्यांगजनों को मतदान करने में सहयोग प्रदान हेतु आॅगनबाड़ी कार्यकत्रियों के लिए लक्ष्य निर्धारित किये जाने का निर्देश देते हुए मतदान केन्द्रों पर आयोग की मंशानुरूप मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था तथा प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में आदर्श मतदान केन्द्रों की स्थापना के सम्बन्ध में अपेक्षित कार्यवाही कराये जाने का निर्देश दिया।जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान अन्य व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में भी नोडल व सहायक नोडल अधिकारियों से जानकारी प्राप्त कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी प्रभुनाथ,उप जिला निर्वाचन अधिकारी वंदिता श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक, वरिष्ठ कोषाधिकारी आलोक राजवंशी,उप जिलाधिकारी सहित विभिन्न व्यवस्थाओं के लिए नियुक्त किये गये प्रभारी व सहायक प्रभारी अधिकारी मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.