- Advertisement -

अयोध्या-K.Mशुगर मिल  मसौधा  के अल्टीमेटम से उड़े किसानों के होश

0 560

मनोज तिवारी रिपोर्टर  अयोध्या ।

के एम शुगर मिल  मसौधा  के अल्टीमेटम से उड़े किसानों के होश

- Advertisement -

18 अप्रैल को मिल बंद करने की चेतावनी अभी भी  खेतों में खड़ा है किसानों का गन्ना

के एम शुगर मिल मसोधा प्रबंध व गन्ना आयुक्त की साठगांठ से गन्ना किसानों का शोषण चरम पर ।बता दें कि मिल प्रबंध व गन्ना आयुक्त ने किसानों का शोषण करने का नया तरीका इजाद किया है क्षेत्र के किसानों का आरोप है कि मिल प्रबंध द्वारा गत 12 अप्रैल को किसानों के मोबाइल पर मैसेज भेज कर 18 तारीख को मिल बंद करने की चेतावनी देने के बाद किसानों के गन्ने की घट तौली व कम दामो पर खरीददारी जारी है मिल प्रबंधक द्वारा 11 अप्रैल को जारी की गई पर्चियां जिन किसानों के पास उपलब्ध है उनका अर्ली परिजात का गाना उचित दामों पर मिल प्रबंध द्वारा लिया जा रहा है और जिन किसानों के पास कोई पर्ची उपलब्ध नहीं है उनका अर्ली प्रजाति का गन्ना टोकन देकर मिल प्रबंध द्वारा रिजेक्ट परिजात के दाम पर खरीदा जा रहा है जिससे किसानों में हड़कंप मच गया है किसान अपना गन्ना अंतिम पेराई सत्र में ओने पौने दाम बेचने को मजबूर हो गया है किसानों की हितैषी कही जाने वाली भाजपा सरकार में किसानों का बुरा हाल है किसानों की आवाज ना तो कोई नेता सुनने वाला है और ना ही कोई अधिकारी ऐसी दशा में किसानों का शोषण चरम पर मील प्रबंध द्वारा किया जा रहा है जिसकी चर्चा  गांव की गलियों से लेकर बाजार के चौराहे पर  तेजी से चल रही है

गन्ना आयुक्त से नही हो सकी बात–/

जब इस बाबत गन्ना आयुक्त से जानकारी लेना चाही गई तो उनके मोबाइल से संपर्क नहीं हो पाया वही किसानों का कहना है कि अब गन्ना आयुक्त फोन से किसी से बात ही नही करना चाहते

 

- Advertisement -

क्या कहते है कनकपुर झागरोली निवासी गन्ना किसान-

मिल प्रबंध द्वारा गत 12 अप्रैल को किसानों के मोबाइल पर मैसेज भेज कर 18 तारीख को मिल बंद करने की चेतावनी दे दी गई जिससे हम किसानों के सामने संकट आ गया है इसी का मौका मिलते ही मिल प्रबंधन किसानों के गन्ने को औने पौने दामों मे  खरीददारी कर रहा है

रामपुर भगन गांव गन्ना किसानओम प्रकाश वर्मा ने बताया-

मिल प्रबंधक द्वारा 11 अप्रैल को जारी की गई पर्चियां जिन किसानों के पास उपलब्ध है उनका अर्ली परिजात का गाना उचित दामों पर लिया जा रहा है और जिन किसानों के पास कोई पर्ची उपलब्ध नहीं है उनका अर्ली प्रजाति का गन्ना टोकन देकर मिल प्रबंध द्वारा रिजेक्ट परिजात के दाम पर खरीदा जा रहा है जिससे किसान परेशान हैं
यही नहीं एसपी विश्वकर्मा ककराही रामजन्म यादव ने तिवारी चतुरपुर राजेश वर्मा ककराही सहित दर्जनों किसानों ने चीनी मिल के अल्टीमेटम का विरोध करते हुए कहा कि नील को कम से कम अप्रैल तक चलना जरूरी है

 

रिपोर्ट मनोज तिवारी अयोध्या 99 8457 6505

Leave A Reply

Your email address will not be published.