- Advertisement -

अमेठी जगदीशपुर/*गैर मान्यता प्राप्त कोचिंग सेंटर व स्कूल की क्षेत्र में भरमार/

0 302

*गैर मान्यता प्राप्त कोचिंग सेंटर व स्कूल की क्षेत्र में भरमार*

*रिपोर्ट शानू शुक्ला*

- Advertisement -

जगदीशपुर/अमेठी

- Advertisement -

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

जगदीशपुर क्षेत्र में संचालित हो रहे अवैध कोचिंग सेंटरों व स्कूलो पर लगाम लगने का नाम नही ले रही है शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए कोई अधिकारी देखे नही रहे है बगैर मान्यता के संचालित हो रहे तमाम कोचिंग सेंटर व स्कूल शासन प्रशासन की आंखों में धूल झोंक रहे हैं।
प्रदेश में सरकार बनने के बाद सीएम की ओर से प्राथमिकता के आधार पर शिक्षा के क्षेत्र में सुधार की ओर कदम उठाए गए। इसको लेकर जहां सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षकों को कोचिंग सेंटरों व स्कूलों पर रोक लगाई तो वहीं जगह जगह गलियो में दुकान की तरह चल रहे कोचिंग सेंटरों व स्कूल पर शिकंजा कसने के निर्देश मातहतों को दिए गए। लेकिन समय बीतने के साथ ही विभागीय जिम्मेदारों ने इस आदेश को ठंडे बस्ते में डालकर शासन की मंशा की धज्जियां उड़ा दी है। और बच्चों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है आजकल क्षेत्र में कोचिंग सेंटरों की मंडी खुली हुई है। सरकारी अध्यापकों से लेकर प्राइवेट अध्यापक भी बगैर मान्यता के कोचिंग सेंटरों का संचालन कर रहे हैं। इसमें से सबसे अधिक कोचिंगों सेन्टरों का केन्द्र जगदीशपुर, कमरौली, रानीगंज, वारिसगंज जाफरगंज में चुंगी की तरह बने हुए हैं। लेकिन शिक्षा विभाग इन कोचिंग की मंडियों पर निगाहें नहीं कर रहा है। इसके साथ ही अवैध कोचिंग सेंटरों में कमी आने के बजाए इसमें इजाफा देखने को मिल रहा है। क्षेत्र में ही संचालित होने वाली कोचिंग सेन्टर की यह मंडिया अब कस्बों व ग्रामीण अंचलों में भी खुली हैं। इसको लेकर जहां शासनादेश का मजाक बनाया जा रहा है तो वहीं बच्चों का भविष्य भी अंधकार की ओर जा रहा है। लेकिन कोई भी जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। और हर वर्ष बच्चों की नई नई किताबें बदला कर दुकानों से मोटी रकम भी ली जा रही है

Leave A Reply

Your email address will not be published.