- Advertisement -

जागा आबकारी विभाग, शराब ठेकों पर सघन चेकिग -रायबरेली

0 310

जागा आबकारी विभाग, शराब ठेकों पर सघन चेकिग

रिपोर्ट- हिमांशु शुक्ला

- Advertisement -

- Advertisement -

रायबरेली : यहां देशी शराब के ठेकों में अपमिश्रित शराब बिकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि हाल ही में लालगंज, हरचंदपुर और मिल एरिया के छजलापुर में ऐसी शराब का बड़ी जखीरा पकड़ा जा चुका है। इसके बावजूद बाराबंकी की दर्दनाक घटना के बाद भी स्थानीय जिम्मेदारों की नींद नहीं टूटी। उस घटना के दो दिन बाद यानि गुरुवार शाम एकाएक शराब के ठेकों पर चेकिग शुरू की गई, मगर कुछ हाथ नहीं लगा।

सोमवार जहरीली शराब ने बाराबंकी में खूब हाहाकार मचाया। फिर सीतापुर में शराब का जहर कहर बनकर टूटा। इसके बावजूद यहां का प्रशासन मौन रहा। सिर्फ आबकारी विभाग दुकानों की खाक छानता रहा। फिर गुरुवार अचानक चेकिग अभियान शुरू किया गया। पूरे जनपद में एक साथ लाइसेंसी दुकानों की चेकिग शुरू कर दी गई। ठेकेदारों को हिदायत देने का काम भी अधिकारियों ने किया। मगर, सवाल ये है कि बाराबंकी की घटना की तुरंत बाद ये अभियान क्यों नहीं चलाया गया। अगर तुरंत ऐसा किया जाता तो संभावना थी कि ठेकों से अपमिश्रित शराब पकड़ी जाती। क्योंकि गैर प्रांतों से कम दर पर शराब मंगाकर यहां बिकने वाली शराब की ब्रांडिग करके कम दामों में इसकी डिलीवरी ठेकों में की जा रही थी। इसकी पुष्टि पूर्व में हो चुकी है। बावजूद इसके जिम्मेदार न जाने किस आदेश का इंतजार कर रहे थे। वो तो अच्छा है कि यहां जहरीली शराब का कहर अब तक नहीं बरपा है। सिर्फ एक केस सामने आया है, जिसके के बाबत अधिकारियों को जानकारी तक नहीं है। इस बाबत डीएम नेहा शर्मा के सीयूजी नंबर पर काल किया गया लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी।

वहीं पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह ने बताया कि विभिन्न सरकारी कामों की व्यस्तता के चलते विलंब हुआ। अब लगातार एक महीने तक अभियान चलाया जाएगा। शराब माफियाओं की हिस्ट्रीशीट खोली जाएगी। गैर प्रांतों से शराब लाने, ले जाने वालों पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी

Leave A Reply

Your email address will not be published.