- Advertisement -

सवा अरब की अमृत योजना बनी सोपीस, नही बुझी नागरिको की प्यास- रायबरेली।

0 234

सवा अरब की अमृत योजना बनी सोपीस, नही बुझी नागरिको की प्यास

रिपोर्ट- हिमांशु शुक्ला

- Advertisement -

रायबरेली। शहर में पेयजल संकट से नागरिकों को राहत दिलाने के लिए शुरू की गई सवा अरब की अमृत योजना में पानी की तरह रुपये तो बहा दिए गए, लेकिन शहरवासियों की प्यास नहीं बुझ पा रही है। कार्यदायी संस्था की ओर से आठ जोन तो नगर पालिका को हैंडओवर तो करा दिया, लेकिन वहां पर आए दिन पाइप फट रहे हैं। इससे पानी की आपूर्ति ठप हो जाती है और सड़कों पर पानी भरा रहता है। इसके चलते शहर के 30 हजार लोग पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। अमृत योजना के तहत नगर पालिका क्षेत्र में 117 करोड़ की नई पाइप लाइन शहर में बिछाई गई है। पालिका के 34 वार्डों में पाइप लाइनों का नवीनीकरण के साथ ही पेयजल आपूर्ति के लिए ट्यूबवेल और पानी की टंकियां भी बनवाई गई। पुरानी पाइप लाइन जर्जर होने के कारण पेयजल आपूर्ति सुचारु रूप से नहीं हो पा रही थी। नई पाइप लाइन से नागरिकों को उम्मीद थी कि पेयजल की समस्या दूर होगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। कार्यदायी संस्था जल निगम की ओर से शहर के सभी मोहल्लों को 20 जोन में बांटकर यह कार्य कराया गया है। अभी तक कार्यदायी संस्था से जलनिगम ने आठ जोन के कार्य को अपने हैंडओवर में लिया है।

गौरतलब है कि पांच महीने पहले हैंडओवर लिए जाने के बाद अब तक 40 से अधिक स्थान पर पाइप लीक हो गए हैं। रायबरेली-परशदेपुर मार्ग पर पीएसी के पास पाइप लीकेज होने से सड़क पर पानी भरा है। इससे आपूर्ति प्रभावित है। साथ ही लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है। नगर पालिका के जलकल विभाग के अफसरों के मुताबिक शहर के देवानंदपुर, गड़रियन का पुरवा, खसपरी, प्रगतिपुरम, बालापुर, चतुर्भुजपुर, छेदी का पुरवा, कल्लू का पुरवा, घसियारी मंडी, आजाद नगर, बहराना, अली मियां कॉलोनी, बरईपुर, करकटी, अहियारायपुर मोहल्लों में पानी आपूर्ति प्रभावित हो रही है। जिससे इन मोहल्लों में रहने वाले करीब 30 हजार लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। खासकर पाइप लीकेज की समस्या अधिक आ रही है। जलकल विभाग के जेई धीरज कहते हैं कि इधर, पाइप लीकेज होने की शिकायतें आ रही हैं। पीएसी के पास पाइप लीकेज होने की जानकारी मिली है। मौके पर जाकर उसे ठीक कराया जाएगा।

- Advertisement -

कैनाल रोड की रहने वाली बबिता दीक्षित, मढ़ी देवी मंदिर के पास की रहने वाली पूजा, नेहरू नगर की रहने वाली बीना, राजकीय कॉलोनी की रहने वाली प्रियंका का कहना है कि शहर में पानी की समस्या दूर होनी चाहिए। साथ ही अमृत योजना में बरती गई धांधली की जांच कराकर कार्यदायी संस्था के जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई भी की जाए।

इनसेट-

” कार्यदायी संस्था की ओर से कराए गए आठ जोन के कार्यों को नगर पालिका ने हैंडओवर लिया है।जहां पर पानी आपूर्ति से संबंधित दिक्कतें आ रही हैं, उसका सर्वे कराया जा रहा है। सर्वे के बाद जहां पर जो शिकायतें होंगी उसे दूर कराया जाएगा।
– आर. के. शुक्ला, जल अभियंता

” शहरवासियों को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। जहां पर भी पाइपें लीकेज होने और पानी आपूर्ति प्रभावित की शिकायतें मिल रही हैं, वहां पर टीम भेजकर जांच कराई जा रही है।
– बालमुकुंद मिश्रा, ईओ, नगर पालिका रायबरेली

Leave A Reply

Your email address will not be published.