- Advertisement -

रायबरेली-डेढ़ लाख आबादी बेहाल, तीन उपकेंद्रों की बत्ती गुल, रिपोर्ट- हिमांशु शुक्ला :

0 239

डेढ़ लाख आबादी बेहाल, तीन उपकेंद्रों की बत्ती गुल,

रिपोर्ट- हिमांशु शुक्ला

- Advertisement -

रायबरेली : जिले के तीन उपकेंद्रों की बिजली आपूर्ति ध्वस्त हो गई। करीब 16 घंटे बत्ती गुल रही। डेढ़ लाख की आबादी को गर्मी का दंश झेलना पड़ा। सुबह पानी की समस्या भी खड़ी नजर आई। इधर, उपभोक्ता बेहाल थे तो उधर, वितरण खंड और ट्रांसमिशन में ठनी रही। अभियंता एक दूसरे की लाइन में खराबी बताते रहे। इसी में पूरा समय बिता दिया।

- Advertisement -

डलमऊ ट्रांसमिशन से उत्तरपारा, जमुनापुर और गदागंज उपकेंद्र को बिजली दी जाती है। बताते हैं करीब एक बजे अचानक इनसे जुड़े सैकड़ों गांवों की आपूर्ति बाधित हो गई। पूरी रात लोग बिजली का इंतजार करते रहे। लेकिन, फिर बत्ती नहीं आई। उमस भरी गर्मी में लोगों की नींद उड़ी रही। तमाम ग्रामीणों ने इधर-उधर टहल कर रात बिताई। फिर थोड़ी देर के लिए बिजली मिली, लेकिन इसके बाद चार बजे फिर से गुल हो गई। इस तरह लगभग 16 घंटे तक लाखों लोगों ने बिजली संकट झेला।

बताते हैं कि उपकेंद्रों के कर्मचारी जब भी ट्रांसमिशन फोन करते, वहां से वितरण खंड की लाइन में खराबी बताई जाती। कई बार लाइनों की जांच भी हुई। मगर, कहीं कोई खामी नहीं मिली। इस तरह उपकेंद्र के अभियंता ट्रांसमिशन की लाइन और ट्रांसमिशन के अभियंता उपकेंद्र की लाइन में गड़बड़ी की बात कहते रहे। इसी का दंश ग्रामीणों को झेलना पड़ा। इनकी भी सुनें

गदागंज उपकेंद्र के अवर अभियंता श्रीनारायण गौतम का कहना है कि रात में उनके उपकेंद्र की लाइन ब्रेकडाउन में डाली गई थी। एक बार ट्राई लिया गया। लेकिन, लाइन नहीं चली। दोबारा ट्राई नहीं दिया गया। फिर पता चला कि ट्रांसमिशन में एक सीटी खराब हो गई थी। इसे सुबह मरम्मत के बाद आपूर्ति शुरू हुई। इसके बाद जो कटौती हुई वह रोस्टिग के तहत थी। उधर, एसडीओ ट्रांसमिशन एके मौर्य से बात करने का प्रयास किया गया, लेकिन संपर्क नहीं हो सका।

Leave A Reply

Your email address will not be published.